500 और 1000 नोंटों के लिए 11 नवंबर तक यहां के दरवाजे रहेंगें खुले

जैसे ही नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोट को मंगलवार रात को अमान्य घोषित किया गया। तब से ही लोगों के मन में कई तरह के सवाल आने लगे हैं। और सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि बचे हुए नोटों का क्या अचार डालें? 

लेकिन आपको एक बात और क्लियर कर दें कि यह नोट पूरे भारत से बन्द नहीं हुए कुछ जगह ऐसी हैं जहां पर यह नोट फिलहाल जारी रहेगें। 500 और हजार के नोटों के लिए अभी फिलहाल 11 नवंम्बर की मध्य रात्री तक यह नोट अस्पतालों, सार्वजनिक क्षेत्र के पेट्रोल एवं सीएनजी गैस स्टेशनों, रेल यात्रा टिकट काउंटरों, शवदाह गृहों, अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डों के दरवाजे इन नोटों के लिए खुले रहेगें।

नोट बंद करने के साथ मोदी ने एक और यह फैंसला लिया है कि शुरूआत में एटीएम से प्रतिदिन एक कार्ड पर आप 2000 रूपये ही निकाल सकते हैं। हालांकि मोदी ने यह भी कहा है कि इससे लोगों को कुछ परेशानियां भी हो सकती हैं कि विश्वास दिलाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवाद, कालाधन, जाली नोट के गोरखधंधे, भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग में देश की जागरुक जनता कुछ दिनों तक इस असुविधा को झेल लेगी। और देश की भलाई के लिए यह जरूरी है।

मोदी के इस निर्णय को वर्ल्ड बैंक और IMF ने भी सराहा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -