कोरोना के बाद केरल में जीका संक्रमण ने बढ़ाया खतरा, 5 नए मामले आए सामने

कोच्ची: कोरोना महामारी ने देश के राज्य केरल में सबसे अधिक समस्यां बढ़ा दी है इस बीच कोरोना के साथ ही केरल में जीका वायरस के केसों के आंकड़े भी निरंतर बढ़ रहे है। जीका के 5 और केस सामने आने के पश्चात् अब तक प्रदेश में प्राप्त हुए जीका संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 61 पर पहुंच गई है। प्रदेश की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बयान में बताया कि जो पांच व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं, वो सभी तिरुवनंतपुरम के रहने वाले हैं। अलाप्पुझा में की गई जांच में ये पांच केस संक्रमण के मिले हैं।

वही स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मरीजों को हॉस्पिटल में एडमिट नहीं कराया गया तथा उनमें से सभी की स्थिति स्थिर है। मंत्री ने सभी से सतर्क रहने की अपील की है, क्योंकि प्रदेश में जीका संक्रमण से संक्रमित होने वालों के आंकड़े में बढ़ोतरी हुई है। जीका वायरस के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री ने कहा था कि केरल में जीका संक्रमण के केस अप्रत्याशित नहीं हैं, क्योंकि यह विषाणु डेंगू तथा चिकुगुनिया फैलाने वाले एडीज मच्छर से फैलता है।

स्वास्थ्य अफसरों के अनुसार, संक्रमित शख्स यदि बेड रेस्ट करता है तो इस संक्रमण पर नियत्रंण पाया जा सकता है। जीका संक्रमण के लिए फिलहाल कोई एंटी फंगल दवा एवं वैक्सीन नहीं है। इस संक्रमण से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है कि दिन के वक़्त मच्छरों के काटने से बचा जाए। बताया जा रहा है कि ये संक्रमण गर्भवती महिलाओं के लिए खतरनाक है, क्योंकि इससे भ्रूण को वायरस प्राप्त हो सकता है, जिससे होने वाले बच्चे में किसी प्रकार की विकृति उत्पन्न होने की आशंका बढ़ जाती है।

नए नागरिक उड्डयन मंत्री की सौगात, भावनगर से दिल्ली और मुंबई के लिए हर दिन होगा उड़ानों का संचालन

लगातार 13वें दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, जानिए आज का दाम

अपनी तस्वीर शेयर कर ऋतिक रोशन ने किया कियारा आडवाणी से चौका देने वाला सवाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -