ऑस्ट्रेलिया में हुई 43 साल की ज्ञात मकड़ी की मौत

दुनिया में ट्रैपडुर मकड़ियों में सबसे लम्बे समय तक जीवित रहने का रिकॉर्ड बनाने वाली मकड़ी ‘ नंबर 16’ की ऑस्ट्रेलिया में मौत हो गयी. बता दें कि इस मकड़ी का नाम गणना की दृष्टि से ‘ नंबर 16’ रखा हुआ था और इसकी मौत 43 साल की  उम्र में हुई है. 

इस  ट्रैपडुर मकड़ी ने ‘ पैसिफिक कंजर्वेशन बायोलॉजी ’ में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार ‘ ट्रैपडुर मकड़ी ’ के मेक्सिको के तरानतुला मकड़ी के 28 साल तक जीने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया था. जांच में पाया गया कि मकड़ी की मौत बूढ़े होने की वजह से नहीं हुई बल्कि उसे ‘ वास्प प्रजाति ’ के एक कीड़े ने अपना शिकार बना लिये जाने के कारण हुई है. 

खोकर्ताओं के अनुसार, इस मकड़ी की वजह से वैज्ञानिकों को समूचे ऑस्ट्रेलिया में पाई जाने वाली मकड़ियों के व्यवहार को समझने में मदद मिली. आपकी बता दें कि आमतौर पर ट्रैपडुर मकड़ियों का जीवनकाल 5 से 20 वर्ष तक का होता है किन्तु ‘ नंबर 16’  मकड़ी इस प्रजाति में अब तक की सबसे ज्यादा समय तक जिन्दा रहने वाली दुनिया की पहली मकड़ी थी. ये मकड़ियां मनुष्य के लिए खतरा तो नहीं हैं लेकिन इनके काटने से दर्द होता है और संबंधित अंग में सूजन हो जाती है.

 

बुद्ध पूर्णिमा: आज जयंती समारोह में शिरकत करेंगे पीएम मोदी

बेलग्रेड इंटरनेशनल मुक्केबाज़ी में भारत का दबदबा

सात शीर्ष कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बढ़ा

भारत की आर्थिक वृद्धि की दर 7.5 रहेगी - डॉयचे बैंक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -