बारिश के बाद भूस्खलन से बद्रीनाथ के रास्ते फंसे 4000 यात्री

Apr 30 2015 04:55 PM
बारिश के बाद भूस्खलन से बद्रीनाथ के रास्ते फंसे 4000 यात्री

बद्रीनाथ : लाखों श्रद्धालुओं की आस्था की यात्रा एक बार फिर रोक दी गई है। उत्तराखंड के चमोली क्षेत्र में बद्रीनाथ की यात्रा पर गए करीब 4000 यात्री रास्ते में फंस गए हैं। बारिश और भूस्खलन से क्षेत्र का जनजीवन अस्त- व्यस्त हो गया है। बारिश से उपजी समस्या को देखते हुए आपदा प्रबंधन दल, पुलिस, सीमा सड़क संगठन सक्रिय हो गए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बारिश के बाद हुए भूस्खलन से लगभग 300 मीटर लंबी सड़क टूट गई है। यही नहीं जोशी मठ के रास्ते में भी आवागमन प्रभावित हुआ है। बद्रीनाथ की ओर जाने वाले मार्ग पर यातायात अवरूद्ध हो गया है। मौसम की खराबी को देखते हुए यात्रा को फिलहाल रोक दिया गया है। यात्रियों के निजी वाहन गोविंदघाट, जोशीमठ, पंडुकेश्वर और बद्रीनाथ में ही रोक दिए गए हैं। यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मौसम अनुकूल होने तक और मार्ग दुरूस्त होने तक यात्रियों को आगे बढ़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। दूसरी ओर सीमा सड़क संगठन राजमार्ग को दुरूस्त करने के काम में जुट गया है। बताया जा रहा है कि भूस्खलन से पहाड़ से चट्टान खिसककर सड़क पर आ गई है। चट्टान को काटने के लिए ड्रिलिंग और विस्फोट की सहायता ली जा रही है। यात्रियों को आवश्यक दिशा - निदेश देने की तैयारी की जा रही है। मार्ग में फंसे यात्रियों की सुरक्षा को लेकर भी प्रयास किए जा रहे हैं।