डकैती के बाद दोनों बहनो के साथ हुआ था गैंगरेप, ऐसे हुआ खुलासा ?

फरीदाबाद(हरियाणा) : ददसिया गांव में डकैती डालने वाले आरोपियों ने पीड़ित परिवार की बड़ी लड़की को ही नहीं बल्कि उसकी छोटी बहन को भी हवस का शिकार बनाया था. इस बात का खुलासा तब हुआ जब पुलिस की टीम ने उत्तरप्रदेश के नौसेरी गांव से डकैत गिरोह के 4 लोगो को हिरासत में लिया. रविवार रात फरीदाबाद पुलिस की करीब 100 से अधिक पुलिसकर्मियों की टीम ने नौसेरी गांव में दबिश दी थी.

पुलिस मुताबिक यह गिरोह पेशेवर है. दिन में रैकी करता है और रात को चोरी, लूट व डकैती की घटनाओं को अंजाम देता है. हालांकि पुलिस ने अभी इनकी पहचान सार्वजनिक नहीं की है. पुलिस इनके कुछ और साथियों को पकड़ने में लगी है. क्राइम ब्रांच अधिकारी नवीन के मुताबिक घर में सोते हुए छापामारी के दौरान चार संदिग्धों को उठाया है. इस दौरान पुलिस को कुछ सुराग हाथ लगे है. कुछ बदमाश भागने में सफल हो गए है. ददसिया में डकैती के बाद जब रेप पीड़ित लड़कियों से बयान लेने महिला पुलिसकर्मी पहुंची तो परिवार को बच्ची की इज्जत व आगे की जिंदगी का हवाला देते हुए सिर्फ 19 साल की लड़की के साथ ही रेप किए जाने संबंधी बयान देने की नसीहत दी. पीड़ित परिवार ने भी महिला पुलिसकर्मी के कहने पर अपनी 15 वर्षीय बेटी के साथ बलात्कार की बात को छिपा लिया और सिर्फ छेड़छाड़ किए जाने संबंधी शिकायत दर्ज कराई. आपको

बता दे की मूलत: उत्तरप्रदेश के बिजनौर निवासी किसान परिवार ददसिया गांव में जमीन पट्‌टे पर लेकर खेती करता है. 25-26 अप्रैल की दरमियानी रात तक़रीबन 1 बजे चार हथियारबंद बदमाशों ने परिवारवालो को बांध दिया. इस दौरान बदमाशों ने संदूक में रखे जेवरात और 10 हजार रुपए लूट लिए. डकैतों ने परिवार की 19 साल व 15 साल बेटी के साथ गैंगरेप किया. पुलिस ने एफआईआर में केवल 19 साल की लड़की के साथ रेप किए जाने और नाबालिग के साथ केवल छेड़छाड़ किए जाने की बात लिखी थी. बदमाश जाते वक्त अपने साथ लाई गाड़ी में मवेशियों लाद ले गए थे. पुलिस ने डकैती, रेप और पोक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की थी.

Most Popular

- Sponsored Advert -