राजस्थान में आज 35000 बसें हड़ताल पर, जनता से बोली गहलोत सरकार- टाल दें यात्रा

Jul 22 2021 12:55 PM
राजस्थान में आज 35000 बसें हड़ताल पर, जनता से बोली गहलोत सरकार- टाल दें यात्रा

जयपुर: राजस्थान में आज बस से यात्रा करने वालों के लिए कठिन दिन हो सकता है. दरअसल, निजी बस संचालकों ने राज्य में आज बसों को नहीं चलाने का ऐलान किया है. बताया जा रहा है कि इस फैसले के कारण राज्य में 35 हजार बसों के पहिए थम जाएंगे. प्राइवेट बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन ने धमकी दी है कि यदि सरकार कोरोना काल के दौरान लगाए गए टैक्स को वापस नहीं लेगी, तो पूरे सूबे में अनिश्चितकालीन चक्का जाम किया जाएगा. 

प्राइवेट बस ऑपरेटर्स का आरोप है कि कोरोना के कारण सरकार ने लॉकडाउन लगा रखा था और प्राइवेट बसों के परिवहन पर रोक थी. इसके बाद भी सरकार उस दौरान का टैक्स ले रही है. सरकार से कई दौर की वार्ता हुई, किन्तु सरकार अपना रेवेन्यू छोड़ने के लिए राजी नहीं है, जबकि बस चालक भूखे मरने की नौबत से गुजर रहे हैं. बस ऑपरेटर्स की मांग है कि निजी बसों का किराया बढ़ाने की छूट दी जाए. ऑपरेटर्स का कहना है कि बीते 1 साल में डीजल 29 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है. प्राइवेट बस ऑपरेटर्स ने धमकी दी है कि चक्का जाम के दौरान दूसरे प्रदेश से आने वाली बसों को भी नहीं चलने दिया जाएगा.  

वहीं, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचारियावास का कहना है कि सरकार ने इनकी मांगो पर सहानुभूति दिखाते करते हुए दो माह का टैक्स माफ कर दिया है. किन्तु प्राइवेट बस ऑपरेटर एक साल का टैक्स माफ करने की मांग कर रहे हैं. वहीं, इस बीच राजस्थान सरकार का कहना है कि लोगों को समस्या ना हो, इसके लिए व्यवस्था की गई है. हालांकि, सरकार द्वारा अपील की गई है कि जो लोग अपनी यात्रा टाल सकते हैं, वे यात्रा टाल दें.

राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित हुआ ‘चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग’, सीएम योगी ने जताया गडकरी-मोदी का आभार

Pegasus मामले पर एमनेस्टी इंटरनेशनल का बड़ा U-टर्न, अब बोला- वो सूची जासूसी टारगेट की नहीं थी...

भारतीय पत्रकार संघ ने की पेगासस रिपोर्ट की उच्चस्तरीय जांच की मांग