आठ राज्यों में फंसे मजदूरों को वापस लाने के लिए शिवराज ने केंद्र सरकार से मांगी 31 ट्रेनें

कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया गया है. वहीं, एमपी के नजदीकों राज्यों में फंसे 40 हजार प्रवासी मजदूरों की अब तक घर वापसी हो गई है. ये सभी मजदूर बसों के द्वारा लाए गए हैं. अभी भी प्रदेश के हजारों मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हैं, जिन्हें बसों के जरिए लाना मुश्किल है. ऐसे में एमपी की शिवराज सरकार ने उन मजदूरों को वापस लाने के लिए केंद्र की सरकार से 31 ट्रेनें मांगी हैं.

रविवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर अहम जानकारी दी है. सीएम ने कहा है कि एमपी के जो लोग दूसरे राज्यों में फंसे हैं, उन्हें वापस लाने के लिए 31 स्पेशल ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव रेल मंत्रालय को भेजा गया है. ये ट्रेनें देश के 8 राज्यों से मध्यप्रदेश के लोगों को वापस लेकर आएंगी. सीएम ने कहा है कि विभिन्‍न प्रदेशों से हमारे मजदूरों को लाने के लिए कुल 31 ट्रेन का प्‍लान रेल मंत्रालय को भिजवाया गया है. शीघ्र ही हमारे मजदूर ट्रेनों से एमपी आएंगे. शिवराज ने कहा कि इस प्रकार की सूचना आई हैं कि नासिक से आने वाले कुछ मजदूरों से वहां किराया लिया गया है. यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी मजदूर से किराया न लिया जाए. अपर मुख्‍य सचिव आईसीपी केसरी ने बताया कि विभिन्‍न प्रदेशों से हमारे मजदूर लाने के लिए कुल 31 ट्रेनों का प्‍लान रेल मंत्रालय को भिजवाया गया है.

बता दें की अपर मुख्‍य सचिव आईसीपी केसरी ने बताया है कि जिन 31 ट्रेन का प्‍लान रेल मंत्रालय को भिजवाया गया है. इनमें से 22 ट्रेन महाराष्‍ट्र से, 2 गुजरात से, 1 दिल्‍ली से, 2 गोवा से और 4 ट्रेनें अन्‍य प्रदेशों से से मध्यप्रदेश के नागरिक और मजदूरों को लेकर वापस एमपी आएंगी.

दूसरे राज्यों से आने वाले मजदूरों को नहीं देना होगा ट्रेन किराया: मध्यप्रदेश सरकार

उज्जैन में दस नए कोरोना के मामले आए सामने, मृतकों का आंकड़ा 35 पंहुचा

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2837 हुई, अब तक 156 लोगों ने गवाई जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -