3000 वर्गफ़ीट का मंदिर परिसर अब हुआ 5 लाख वर्ग फीट का.., PM बोले- 'काशी तो अविनाशी है'

वाराणसी: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर के उद्घाटन के दौरान वहाँ उपस्थित लोगों को सम्बोधित किया। उन्होंने इस दौरान काशी विश्वनाथ धाम मंदिर कॉरिडोर के भव्य स्वरूप का लोकार्पण किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अभी मैं बाबा विश्वनाथ के साथ साथ नगर कोतवाल कालभैरव जी के दर्शन करके भी आ रहा हूँ, देशवासियों के लिए उनका आशीर्वाद लेकर आ रहा हूँ। काशी में कुछ भी विशेष हो, कुछ भी नया हो, उनसे पूछना जरुरी है। मैं काशी के कोतवाल के चरणों में भी प्रणाम करता हूँ।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पुराणों में कहा गया है कि जैसे ही कोई काशी में प्रवेश करता है, वो सभी बंधनों से मुक्त हो जाता है। भगवान विश्वेश्वर का आशीर्वाद, एक अलौकिक ऊर्जा, काशी में कदम रखते ही हमारी अंतर-आत्मा को जागृत कर देती है। पीएम मोदी ने कहा कि पहले यहाँ जो मंदिर क्षेत्र सिर्फ तीन हजार वर्ग फीट में था, वो अब लगभग 5 लाख वर्ग फीट का हो चुका है। अब मंदिर और मंदिर परिसर में 50 से 75 हजार भक्त आ सकते हैं। यानि पहले माँ गंगा का दर्शन-स्नान, और वहाँ से सीधे बाबा विश्वनाथ का धाम।

पीएम मोदी ने कहा कि, 'जब मैं बनारस आया था, तब एक विश्वास लेकर आया था, विश्वास अपने से अधिक बनारस के लोगों पर था। आज हिसाब-किताब का वक़्त नहीं है। उस समय कुछ ऐसे लोग भी थे, जो बनारस के लोगों पर संदेह करते थे कि कैसे होगा, नहीं होगा, ये मोदी जी जैसे बहुत आए और चले गए। मुझे काफी आश्चर्य होता था, मगर ये जड़ता बनारस की नहीं थी, वो राजनीति थी। लेकिन काशी तो, काशी है। काशी तो अविनाशी है। काशी में एक ही सरकार है। जिनके हाथों में डमरू है, उनकी सरकार है।'

'हर-हर महादेव' के उद्घोष से गूँज उठी वाराणसी, PM ने किया काशी विश्वनाथ कोरिडोर का उद्घाटन

क्या है​ काशी विश्वनाथ कॉरिडोर, जानिए खास बातें

काशी विश्वनाथ की वो रोचक बातें जो आप भी नहीं जानते होंगे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -