आत्महत्या करने से पहले 48 घंटे तक किया गूगल रिसर्च

Sep 03 2015 06:05 AM
आत्महत्या करने से पहले 48 घंटे तक किया गूगल रिसर्च

बेंगलुरु : आज के जमाने मे गूगल की एहमियत इतनी बढ़ गई है की इसकी जरूरत हर किसी को पड़ती है। इंसान के दिमाग मे सिर्फ एक ही बात है की सभी सवालो के जवाब सिर्फ गूगल के पास ही मौजूद है। 26 वर्षीय ईशा हांडा भी इसी फिराक मे गूगल पर आत्महत्या का शोध करने मे जुट गई। आपको बता दे की ईशा ने रविवार शाम शोभा क्लासिक बिल्डिंग की 13वी मंजिल से छलांग लगा कर आत्महत्या कर ली। लेकिन ऐसा करने से पहले ईशा ने गूगल पर काफी रिसर्च किया। उसने अपने स्मार्टफोन मे करीब 48 घंटे सिर्फ एक ही विषय खोज की जिसका नाम है, आत्महत्या।

ईशा ने खुदखुशी करने से पहले इसके बारे मे काफी जानकारी ली की कैसे, किस तरह से आत्महत्या की जाए। जब उसे जान देने का सबसे अच्छा तरीका मिल गया तो ईशा ने सबसे ऊंची बिल्डिंग को खोजा। हालांकि पुलिस को अभी आत्महत्या की वजह पता नही चल पाई है लेकिन फॉरेंसिक विशेषज्ञो ने जो जानकारी जुटाई है वह काफी हैरान कर देने वाली है। ईशा के स्मार्टफोन से पता चला की खुदखुशी से पहले ईशा ने गूगल पर करीब 89 से भी ज्यादा वेबसाइड पर सिर्फ आत्महत्या करने के विषय पर विजिट किया।

जांच अधिकारियों ने बताया की ईशा ने गूगल पर यह भी खोजा की बिल्डिंग से किस तरह कूदा जाए जिससे की जान बचने की संभावना नही रहे। रविवार शाम करीब 4 बजे ईशा अपने साथ रहने वाली दोनों फ्लैटमेट, पूनम ओर स्तुति को किसी काम का कहकर चली गई। लगभग 5 बजे शोभा क्लासिक के लिए ईशा निकल गई और करीब 3 घंटे बिल्डिंग के आसपास घूमकर मुआयना किया। जब आंधेरा हो गया तो शाम करीब 8 बजे छत से कूदकर जान दे दी।

घटनास्थल पर मिले ईशा के बैग से लगभग 250 ग्राम गांजा और सफ़ेद रंग की गोलियां बरामद की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चल सकेगा की उसने ड्रग्स का सेवन किया या नही। हालांकि पुलिस को अभी तक आत्महत्या का कारण पता नही चला है। पुलिस सभी पहलुओ पर जांच कर रही है।