11 महीने में 2500 ख़ुदकुशी.., महाराष्ट्र में नहीं थम रही किसानों की आत्महत्या

मुंबई: महाराष्ट्र में किसानों की आत्महत्या एक बड़ा मुद्दा है. इसे लेकर समय-समय पर सियासी बयानबाज़ी भी होती रहती है. अभी हाल ही में एक RTI से हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. RTI के अनुसार, महाराष्ट्र में बीते 11 माह में लगभग 2500 किसानों ने आत्महत्या की है. महाराष्ट्र  के राजस्व विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, जनवरी 2021 से नवंबर 2021 तक राज्य में 2498 किसानों ने ख़ुदकुशी की है. जबकि वर्ष 2020 में महाराष्ट्र ने 2547 किसानों ने अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली थी. 

महाराष्ट्र के औरंगाबाद विभाग में सबसे अधिक 804 किसानों ने ख़ुदकुशी की है. जबकि नागपुर विभाग में 309 किसानों ने आत्महत्या की. वहीं पश्चिम विदर्भ के अमरावती में 356 किसानों ने सुसाइड किया, जबकि यवतमाल में 299, बुलढाणा में 285, अकोला में 138, वाशीम में 75 किसानों ने मौत को गले लगाया. यानी, पिछले एक साल में अमरावती विभाग के 5 जिलों में 1153 किसानों ने आत्महत्या की है

औरंगाबाद विभागीय आयुक्त कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मराठवाड़ा में गत वर्ष 2021 में परेशान हाल 711 किसानों ने ख़ुदकुशी की है. जिसमे से औरंगाबाद में 150, जालना में 75, परभणी में 51, हिंगोली में 33, नांदेड़ में 91, बीड में 150, लातूर में 53, उस्मानाबाद में 108 किसानों ने तंग आकर अपनी जान दे दी.

राष्ट्रीय बालिका दिवस आज, जानिए क्या है इसका इतिहास

कुवैती विदेश मंत्री ने लेबनान के राष्ट्रपति को ट्रस्ट को फिर से स्थापित करने के लिए सिफारिशें कीं

कर्नाटक सरकार एनसीसी की 75 नई इकाइयां शुरू करेगी: सीएम बोम्मई

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -