देवघर के सदर अस्पताल में डॉक्टर के साथ मारपीट, विरोध में 19 डॉक्टरों का सामूहिक इस्तीफा

रांची: झारखंड के देवघर में सदर हॉस्पिटल में उपचार के दौरान डॉक्टर के साथ मारपीट की घटना के बाद 19 डॉक्टरों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दे दिया है. सिविल सर्जन को सौंपे गए पत्र में डॉक्टरों ने लिखा है कि यदि आरोपियों पर जल्द कार्रवाई नहीं की जाती है, तो आंदोलन को और तेज किया जायेगा. अभी पूरे जिले के तमाम डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं. डॉक्टरों का कहना है कि हमला करने वाले लोग झारखंड मुक्ति मोर्चा से जुड़े हैं. झारखंड IMA के सेक्रेटरी डॉ. प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कि आरोपियों पर यदि कार्रवाई नहीं की जाती है, तो पूरे राज्य के डॉक्टर हड़ताल पर जाएंगे.

दरअसल, देवघर के सदर हॉस्पिटल में 17 मई को एक एक्सीडेंटल मरीज को PCR वैन लेकर आई थी. जिसके बाद ऑन ड्यूटी डॉक्टर कुंदन कुमार ने उसका उपचार शुरू किया. इलाज के दौरान डॉक्टर कुछ लाने के लिए ड्रेसिंग रूम गए. इसी बीच मरीज के साथ आए परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया. उपचार में लापरवाही करने का इल्जाम लगाते हुए डॉक्टर के साथ धक्कामुक्की और मारपीट की. ऐसे में डॉक्टरों ने आपात बैठक बुलाई. बैठक में फैसला लिया गया कि जब तक सभी पांच नामजद को गिरफ्तार नहीं किया जाता है, तब तक सभी डॉक्टर इमरजेंसी सेवा के साथ ओपीडी सेवा को बंद रखेंगे. साथ ही 19 डॉक्टरों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा भी दे दिया.  

झारखंड IMA के सेक्रेटरी डॉ. प्रदीप कुमार ने कहा है कि यदि आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है, तो पूरे राज्य के डॉक्टर हड़ताल पर जाएंगे. फिलहाल देवघर में कोई भी डॉक्टर उपचार नहीं कर रहे हैं. पुलिस ने दो व्यक्ति को अरेस्ट कर लिया है. मगर अभी भी डॉक्टर गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं. डॉक्टर 24 घंटे तक चार पुलिसकर्मियों को देवघर सदर अस्पताल में तैनात करने की मांग कर रहे हैं. साथ ही हॉस्पिटल में निजी सुरक्षा के लिए शस्त्र का लाइसेंस मांग रहे हैं. 

मोरबी हादसे में 12 मजदूरों की दर्दनाक मौत, पीएम मोदी और सीएम पटेल ने किया मुआवज़े का ऐलान

सफाई करने सीवर में उतरे दो कर्मचारियों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत, परिवार में मातम

SSP ऑफिस पहुंचे किसान ने खुद को लगाई आग, इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसकर्मी निलंबित

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -