सरकार ने दी हिमाचल प्रारंभिक शिक्षा विभाग को 1807 पद पर भर्ती की मंजूरी

Feb 21 2020 01:28 PM
सरकार ने दी हिमाचल प्रारंभिक शिक्षा विभाग को 1807 पद पर भर्ती की मंजूरी

हिमाचल प्रारंभिक शिक्षा विभाग में बंपर भर्तियां होने वाली हैं। वहीं इससे जहां स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर होगी, वहीं प्रशिक्षित बेरोजगारों को नौकरी मिल सकती है । इसके साथ ही हिमाचल के सरकारी स्कूलों में शास्त्री और भाषा अध्यापकों के 1807 पद भर सकते है। हिमाचल सरकार की मंजूरी के बाद प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। 50 फीसदी पद बैचवाइज और 50 फीसदी सीधी भर्ती से भरे जाएंगे। वहीं निदेशालय ने पदों का बंटवारा जिलावार कर दिया है। सीधी भर्ती कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर के माध्यम से हो सकती है । शास्त्री के 1182 और भाषा अध्यापकों के 625 पद भरे जाएंगे। इस भर्ती प्रक्रिया के शुरू होने से बीते कई सालों से नियुक्त एसएमसी शिक्षकों की नौकरी पर खतरा मंडराना शुरू हो गया है। शास्त्री और भाषा अध्यापक के ये पद एसएमसी की जगह भरे जाएंगे। इसके साथ ही  निदेशक रोहित जमवाल ने बताया कि भर्ती एवं पदोन्नति नियमों से जल्द भर्ती प्रक्रिया पूरी होगी। वहीं प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने जिला उपनिदेशकों को जारी पत्र में भर्ती प्रक्रिया जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं। इस भर्ती के तहत बीते कई वर्षों से बीएड करने के बाद अपना नंबर आने के इंतजार में बैठे युवाओं को नौकरी का मौका मिलेगा।

जिला         भाषा अध्यापक        शास्त्री
बिलासपुर         32            62
चंबा              72         146
हमीरपुर          8             38
कांगड़ा         126           170
किन्नौर        13             36
कुल्लू           24             76
जिला         भाषा अध्यापक        शास्त्री
लाहुल स्पीति 14             32
मंडी             94            220
शिमला        104          170
सिरमौर        68           122
सोलन           30           70
ऊना             40             40
कुल             625            1182   

टीजीटी-जेबीटी भर्ती में अभी फंसा है पेच
टीजीटी के 1304 और जेबीटी के 693 पद भरने को लेकर अभी पेच फंसा हुआ है। रूसा के तहत सब्जेक्ट कंबीनेशन गलत होने के चलते टीजीटी भर्ती पर अभी फैसला नहीं हुआ है। इसके अलावा  इसी तरह जेबीटी भर्ती के लिए बीएड को भी पात्र माने जाने के चलते यह भर्ती भी फंसी हुई है। वंही दिसंबर 2019 में प्रदेश सरकार ने शिक्षकों के 3636 पद भरने को मंजूरी दी थी।

रैली और सार्वजनिक सभाओं में पुलिस की अड़चन पर हाई कोर्ट ने बाली ये बात

16 मई से जनगणना के साथ एनपीआर के लिए होगा सर्वे

एबीवीपी ने आरकेएमवी के गेट पर जबरदस्ती लगाया ताला, किया प्रदर्शन