मिल गया अरुणाचल से किडनैप हुआ 17 वर्षीय ‘मीराम तारौन’

ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश से अपहरण किए गए 17 वर्षीय मीराम तारौन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। चीन की बॉर्डर PLA पर लड़के का किडनैप करने का इल्जाम लगा था। अब पीएलए ने ही भारतीय सेना को कहा है कि उन्हें अरुणाचल से गुमशुदा हुआ लड़का मिल गया है। तेजपुर में पीआरओ डिफेंस लेफ्टिनेंट कर्नल हर्षवर्धन पांडे ने बताया है, ‘चीनी सेना ने हमें सूचित किया है कि उन्हें अरुणाचल प्रदेश का एक गुमशुदा लड़का मिल गया है तथा अब आगे उचित प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है।’

वही तारौन की कई दिनों से खोजबीन की जा रही थी। सिर्फ दो दिन पहले ही चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने पीलए पर लग रहे किडनैप के इल्जामों पर कहा था कि उन्हें ‘इस मामले में कोई जानकारी नहीं है’। प्रवक्ता ने ये भी बताया कि पीएलए सीमा की रक्षा करती है तथा अवैध प्रवेश या निकास जैसी गतिविधियों को रोकती है। तारौन के अगवा होने की खबर अरुणाचल से भारतोय जनता पार्टी सांसद तापिर गाओ ने बुधवार को दी थी।

साथ ही उन्होंने कहा था कि पीएलए ने एक युवक को भारतीय इलाके के अंदर के सिआंग जिले से अगवा कर लिया है। जिसकी पहचान मीराम तारौन के रूप में हुई है। चीनी सेना ने लड़के को सेउंगला क्षेत्र के लुंगटा जोर क्षेत्र से अगवा किया था। गाओ ने पत्रकारों को बताया कि तारौन के दोस्त जॉनी यियिंग ने कहा था कि उसे अगवा कर लिया गया है। यियिंग पीएलए से बचकर फरार होने में सफल रहा। फिर उसने इस केस में स्थानीय अफसरों को सूचित किया। भारतीय सेना को जैसे ही तारौन के बारे में पता चला, उसने तत्काल पीएलए से कांटेक्ट किया था। सेना ने पीएलए से कहा कि लड़का जड़ीबूटी इकट्ठी करने गया था, मगर अपना मार्ग भटक गया है। उसे तलाशा नहीं जा सका है। भारतीय सेना तारौन का पता लगाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहे थे।

सर्दी के मौसम में गर्मी का मजा देंगी भारत की ये जगहें

यहां पर जल्द खुल सकते हैं स्कूल!

आज इंडिया गेट पर लगेगी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -