किरायेदारों को मिली बड़ी राहत, मकान मालिकों ने नहीं लिया किराया

भारत में वर्तमान परिस्थिति में कोरोनावायरस से अर्थव्यवस्था की हालत खराब है, काम-धाम सब ठप पड़ा है. ऐसे में लगभग 16 फीसद मकान मालिकों ने अपने किरायेदारों के 2 महीने का किराया माफ कर दिया है, जबकि अन्य 41 फीसद ने किरायेदारों को किराया चुकाने के लिए और ज्यादा समय दिया है. एक सर्वे में यह जानकारी सामने आई है.

भारतीय मोबाइल कैमरा के मेगापिक्सल पर नहीं देते ध्यान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यह सर्वे प्रॉपर्टी क्लासिफाईड वेबसाइट  द्वारा किया गया है, जिसके स्वामित्व में इन्फो एज इंडिया लिमिटेड है, इसमें 49,600 घर मालिकों और ब्रोकर्स क शामिल किया गया है, जिनके पास किराए या बिक्री के लिए लिस्टेड संपत्ति है. सर्वे का उद्देश्य प्रॉपर्टी मार्केट पर कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव का आकलन करना था.

लॉकडाउन के कारण नहीं रिलीज हो पाई इस एक्ट्रेस की पहली फिल्म, जताया दुःख

इसके अलावा एक बयान में कहा गया कि, 'अधिकांश मकान मालिक किरायेदारों की मदद कर रहे हैं, 44 फीसद ने किराया नहीं बढ़ाया है, 41 फीसद अपने किरायेदारों को भुगतान करने के लिए अधिक समय दे रहे हैं और 16 फीसद ने दो महीने तक का किराया माफ कर दिया है.'

दमदार बाइक में शामिल है Hero Splendor Plus, खरीदने के लिए चुकाने पड़ेंगे अ​तिरिक्त दाम

अखिलेश यादव का आरोप- मजदूरों का नहीं बल्कि पूंजीपतियों का हित देख रही भाजपा सरकार

1960 के मध्य में कोरोना की हुई थी पहचान, विषाणुओं के होते है चार उप-समूह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -