ज्योति ने साइकिल से हजारों किमी का सफर किया तय, अब ट्रायल का मौका देगा सीएफआई

May 22 2020 04:27 PM
ज्योति ने साइकिल से हजारों किमी का सफर किया तय, अब ट्रायल का मौका देगा सीएफआई

साइकिल पर गुरुग्राम से दरभंगा पहुंची ज्योति को भारतीय साइकिलिंग महासंघ (सीएफआई) ट्रायल का अवसर देगा. सीएफआई के निदेशक वीएन सिंह ने कोरोना वायरस के वजह से राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच अपने पिता को साइकिल पर बैठाकर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा पहुंची ज्योति को क्षमतावान करार देते हुए कहा है कि महासंघ उसे ट्रायल का मौका देगा. अगर वह सीएफआई के मानकों पर थोड़ी भी खरी उतरती है तो उसे विशेष ट्रेनिंग और कोचिंग मुहैया भी कराई जाएगी.

लॉकडाउन में ज्योति अपने पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बिठाकर एक हजार किमी से ज्यादा की दूरी आठ दिन में तय करके गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा पहुंच गई थी. ज्योति ने रोजाना 100 से 150 किमी साइकिल चलाई है. इस बारें में वीएन सिंह ने कहा कि महासंघ हमेशा प्रतिभावान खिलाड़ियों की तलाश में रहता है और अगर ज्योति में क्षमता है तो उसकी पूरी मदद की जाएगी. लॉकडाउन के बाद ज्योति को ट्रायल का मौका देने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, मैंने उससे बात की थी और उसे बता दिया है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद जब भी मौका मिलेगा वह दिल्ली आए और उसका इंदिरा गांधी स्टेडियम में हम उसका छोटा सा टेस्ट लेंगे. हमारे पास वाटबाइक होती है जो स्थिर बाइक है.

बता दें की इस पर बच्चे को बैठाकर चार-पांच मिनट का टेस्ट किया जाता है. इससे ये पता चल जाता है कि खिलाड़ी और उसके पैरों में कितनी क्षमता है. वह अगर इतनी दूर साइकिल चलाकर गई है तो निश्चित तौर पर उसमें क्षमता है.

NHLPA ने प्लेऑफ प्रस्ताव पर किया मतदान

क्या विश्व क्रिकेट ने बॉस बनेंगे दादा ? सौरव गांगुली को ICC प्रमुख बनाने की मांग

मेरी कॉम ने दिया चौकाने वाला बयान, कहा- "मेरे लिए जो दुआएं की जाती हैं उनकी बदौलत"