कोरोना से ठीक हुई 14 वर्षीय लड़की लेकिन अब जिंदगी भर इस समस्यां से रहेगी पीड़ित

कोरोना संक्रमण के कारण पूरा विश्व परेशान है तथा करोड़ों परिवार इससे संक्रमित हो चुके हैं। मगर कोरोना वायरस के कारण एक 14 वर्षीय लड़की पर ऐसा दुष्प्रभाव पड़ा कि पिछले 6 माह से उसके सूंघने की क्षमता ही समाप्त हो गई है। कोरोना वायरस से 6 माह पहले ही छुटकारा पा चुकी ये लड़की अब तक स्वाद एवं गंध महसूस नहीं कर पा रही है। 14 वर्षीय ग्वेंडालिन केलन अपनी नाक में सूंघने की क्षमता फिर से प्राप्त करने के लिए हर दिन चार जरुरी तेलों को सूंघती हैं मगर उसे सभी तेलों से केवल जले हुए रबर जैसी गंध ही आती है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, हाई स्कूल की इस विद्यार्थी का कहना है कोरोना नकारात्मक आए हुए 6 महीने गुजर जाने के पश्चात् भी सभी भोजन का स्वाद उल्टी जैसा महसूस होता है तथा उसे डर है कि वह अब कभी भी अपने पसंदीदा भोजन का मुतफ नहीं उठा पाएगी। अमेरिका के मिशिगन की रहने वाली ग्वेंडालिन पैरोस्मिया से ग्रसित है। इस रोग में गंध की विकृति उत्पन्न हो जाती है जिसे कोरोना वायरस का साइड इफेक्ट तथा लॉन्ग टर्म कोरोना लक्षण बताया जा रहा है।

51 वर्ष के उसके पिता डेविड केलन को भय है कि उनकी बेटी को गंध एवं स्वाद की भावना के बग़ैर ही अब जिंदगी ना गुजारना पड़े। उन्होंने कहा, "कान नाक और गले के चिकित्सकों ने हमें बताया है कि चूंकि अब बहुत लंबा वक़्त गुजर चुका है इसलिए संभव है कि वो कभी भी गंध और स्वाद को महसूस ना कर पाए। ग्वेंडालिन इसी वर्ष 30 जनवरी को कोरोना संक्रमित पाई गई थी। उसे पेट दर्द, सिरदर्द एवं उल्टी के पश्चात् कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने के पश्चात् दो हफ़्तों के लिए विद्यालय से बाहर कर दिया गया था।

'जासूसी की जेम्स बॉन्ड' रही कांग्रेस अब उठा रही है पेगासस का 'मनगढ़ंत' मुद्दा: नकवी

शाहरुख खान की लाड़ली ने बनाया मां गौरी खान का स्केच, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

बीजेपी में शामिल हुए मणिपुर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गोविंददास कोंटौजम 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -