14 वर्षीय बालक ने बनाई अनोखी मशीन, कंपनी ने आईडिया के लिए दिया 200 करोड़ का ऑफर

न्यूयॉर्क: अमेरिका के एक 14 वर्षीय छात्र द्वारा अपनी उम्र के बच्चों से असामान्य कार्य करते हुए. अपने तेज़ दिमाग का परिचय दिया है. इस 14 साल के बालक ने फर्स्ट एड वेंडिंग मशीन का निर्माण किया है. जिसके पेटेंट को खरीदने के लिए हेल्थकेयर कंपनी ने इस बालक को करीब 200 करोड़ रूपए का ऑफर दिया है. 

हालाँकि छात्र द्वारा इसे बेचने से साफ तोर पर मना कर दिया गया है. अलबामा प्रांत के रहने वाले 14 वर्षीय टेलर रोसेनथल बेसबॉल के दौरान घायल होने वाले बच्चों को देख कर इस वेंडिंग मशीन को बनाने का ख्याल आया था. जिसके बाद उन्होंने अपने स्कूल प्रोजेक्ट के तहत इस मशीन का निर्माण किया. 
 
टेलर ने एक टीवी चनील से बातचीत के दौरान बताया की, "मैं बेसबॉल टूर्नामेंट के सिलसिले में अलबामा भर में यात्रा करता रहता था. मैंने देखा कि बच्चों के घायल होने पर उनके मां-बाप के पास प्राथमिक उपचार में काम आने वाला बैंड-एड जैसी मूलभूत चीजें भी नहीं होती थीं. मैं इस समस्या को सुलझाना चाहता था."

टेलर द्वारा इस मशीन को बनाने के लिए रेकमेड स्टार्टअप नामक एक कंपनी खोली गयी है. जिसके लिए उन्होंने एक लाख डॉलर (66.98 लाख रुपये) का फण्ड भी मिल गया है. उन्होंने यह वेंडिंग मशीन करीब 5,500 डॉलर (3.68 लाख रुपये) में उपलब्ध कराने की बात कही है. सिक्स फ्लैग नामक थीम द्वारा 100 मशीन्स का आर्डर भी दे दिया गया है. 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -