इटली में कोरोना के कारण हालात हुए गंभीर, अब तक 17,127 की मौत

रोम: आज के समय में बीमारी हो या कोई आपदा दोनों ही मानव जीवन पर संकट बन ही जाती है. जिसमे से एक है कोरोना वायरस यह एक ऐसी बीमारी है, जिसका अभी तक कोई तोड़ नहीं मिल पाया है. वहीं इस वायरस की चपेट में आने से 24000 से अधिक मौते हो चुकी है, जबकि लाखों लोग इस वायरस से संक्रमित हुए है. ऐसे में वैज्ञानिकों के लिए यह कहना जरा मुश्किल सा है कि इस बीमारी से कब तक निजात मिल पाएगा.  वहीं  COVID-19 आपातकाल पर नजर रखने वाले नागरिक सुरक्षा विभाग के ताजा आंकड़ों के अनुसार, इटली में अब तक कोरोना वायरस के 135,586 मामलों की पुष्टि हो चुकी हैं. आंकड़ों के मुताबिक, देश में 17,127 लोगों ने इस घातक कोरोना वायरस से जान गंवा दी है. इनमें 880 सक्रिय संक्रमण केस सोमवार को पंजीकृत किए गए, जिनके जुड़ने के बाद देशभर में अब कुल 94,067 सक्रिय संक्रमण मामले हो गए हैं. बताया गया कि ठीक हुई संख्या व्यापक रूप से दैनिक आधार पर नए सक्रिय संक्रमणों से अधिक थी.

मिली जानकारी के अनुसार नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेल्ली ने एक संवाददाता सम्मेलन में जोर देकर कहा, 'नए संक्रमण की प्रवृत्ति में कमी की पुष्टि हो रही है और 880 की संख्या सबसे कम (दैनिक) है जो हमने 10 मार्च से देखी है.' बोरेल्ली, जो सीओवीआईडी -19 आपातकाल में काफी मेहनत से कार्य में लगे हैं. उन्होंने मंगलवार को बताया कि पिछले 24 घंटों में 3,039 मामलों की वृद्धि हुई, जिससे कुल मामले 135,586 हो गए. जिन लोगों ने अब तक सकारात्मक परीक्षण किया है, उनमें से 28,718 को अस्पताल के सामान्य वार्डों में भर्ती कराया गया है, 3,792 गहन देखभाल इकाइयों में हैं और शेष 61,557 घर में आइसोलेशन में रखे गए हैं. बोरेल्ली ने यह भी पुष्टि की कि इतालवी अस्पतालों पर दबाव कम हो रहा है और विशेष रूप से 'गहन देखभाल इकाइयों' में, जहां हमारे पास अब 106 कम रोगी हैं (पिछले दिन की तुलना में) जगह के हिसाब से.

बताया गया कि पिछले 24 घंटों में 604 लोगों की मृत्यु हुई. दैनिक आधार पर पंजीकृत नई मृत्यु की बात करें तो सोमवार को 636 और रविवार को 525 लोगों की मृत्यु हुई थी. नेशनल हेल्थ इंस्टीट्यूट (आईएसएस) में संक्रामक रोग विभाग के निदेशक जियोवानी रेज़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, 'अब हम नए मामलों में कमी देखने लगे हैं.' उन्होंने कहा कि बोरेल्ली ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपना बिना रुके योगदान देने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य कर्मचारियों की भी प्रशंसा की. उन्होंने कहा, 'मेरे विचार चिकित्सा कर्मचारियों के साथ हैं, जो हम सभी की सुरक्षा के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं.'

नेपाल के पीएम KP शर्मा का बड़ा बयान, कहा- 'अगले दो हफ्ते अहम'

न्यूयॉर्क में सुधरने लगे हाल, अमेरिका में मौत का आंकड़ा 11 हजार के पर

कोरोना वायरस की रोकथाम पर WHO का आया बयान, कहा- 'सुरक्षा उपाय वापस लेने में न करें जल्दबाजी'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -