कोरोना के साथ अब ब्लैक फंगस ने बढ़ाई परेशानी, कर्नाटक में महज एक दिन में 1250 केस

बैंगलोर: कोरोना की दूसरी लहर के जारी प्रकोप के बीच कर्नाटक में ब्लैक फंगस यानि म्यूकरमाइकोसिस के तेजी से बढ़ रहे मामलों ने सरकार और लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. रविवार को कर्नाटक में एक दिन में ब्लैक फंगस के 1,250 केस दर्ज किए गए हैं. राज्य सरकार ने बताया है कि अभी राज्य में 1,193 मरीजों का इलाज चल रहा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों के बीच मिंटो आई अस्पताल की डायरेक्टर डॉ. सुजाता राठौड़ ने जानकारी देते हुए बताया है कि 10 मई से हमारे वार्ड में म्यूकरमाइकोसिस के लगभग 126 मरीजों का उपचार किया गया, जिनमें से 32 मरीजों की जान जा चुकी है. जबकि, 20 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. डॉ. सुजाता राठौड़ ने कहा कि हमने छह मरीजों का उपचार किया है. जिनकी आंखों की रोशनी सही नहीं हुई है.

डॉ. सुजाता ने आगे कहा कि औसतन 28 से 84 साल के आयु वर्ग के लोग इस ब्लैक फंगस से सबसे अधिक प्रभावित हुए है. उन्होंने बताया कि 11 और 13 साल की आयु के दो बच्चों को भी इस फंगल इन्फेक्शन से संक्रमित पाया है. म्यूकरमाइकोसिस अब तक सिर्फ वयस्कों को प्रभावित कर रहा था. हालांकि, यह बच्चों में भी पाया जा रहा है और ग्रामीण कर्नाटक में इसके दो केस सामने आए हैं.

रुपया VS डॉलर: शुरुआती कारोबार में यूएसडी के मुकाबले रुपये 9 पैसे बढ़कर 72.36 हुआ

राष्ट्रीय सेना ने शबेले क्षेत्र में अल-शबाब के 100 आतंकवादियों को मार गिराया

कीव मेलोडिस्ट इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएगी ये फिल्म

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -