11वी की छात्रा ने लगाई फाँसी

11वी की छात्रा ने लगाई फाँसी
Share:

कोलकाता: स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे पढ़ाई के तनाव के कारण गलत कदम उठा लेते है, स्कूल के रिजल्ट आने पर ये घटनाये अधिक बढ़ जाती है साथ ही अब मोबाईल फोन भी बच्चो को काफी परेशानियो में डाल रहा है, बच्चें सोशल मिडिया का उपयोग करते है और उसके आदि हो जाते है, जिससे उनकी मानसिक स्थिति बिगड़ती जाती है. बच्चे कई हिंसात्मक गम खेलते है, जिससे उनकी हिंसात्मक प्रवर्ति हो जाती है.सोशल मिडिया की आदि ऐसी ही एक छात्र ने माँ द्वारा मोबाईल छीन लेने पर फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गयी. आसपास के लोगो और उसके माता-पिता उसे फ़ौरन अस्पताल ले गए जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

गौरतलब है कि कक्षा 11वीं की छात्रा ज्योति शॉ ने गुरुवार  को फांसी लगा ली, पुलिस को डीसी साउथ इस्टर्न डिवीजन कल्याण बनर्जी ने बताया कि लड़की स्कूल मे ठीक से पढ़ाई नहीं कर रही थी और पढ़ाई में उसका मन नहीं लगता था, मनोवैज्ञानिक का कहना है कि बच्चों को ऐसा लगता है कि उनके साथी सोशल मीडिया पर जो कर रहे हैं वह जीवन का काफी जरूरी हिस्सा है. उन्हें लगता है कि अगर सोशल मीडिया का वह इस्तेमाल नहीं करे तो सबकुछ बेकार हो जाएगा.

पुलिस को ज्योति के पिता कृष्णा प्रसाद ने बताया कि उनकी बेटी सबकुछ भूलने लगी थी और वह उनके सवालों के जवाब भी नहीं देती थी, मां को लगा कि उनकी बेटी फेसबुक की आदि हो रही है, इसी वजह से वह पढ़ नहीं रही है, गुरुवार की शाम को लड़की ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और खुद को फांसी लगा ली. माता पिता ने लड़की को अधिक फोन इस्तेमाल करने के लिए सोमवार को डांटा था, जिसके चलते उसने यह कदम उठाया. परिवार ने किसी तरह की कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है. लड़की के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है, जिससे पुलिस ने किसी को भी दोषी नहीं माना.

पैदा होने के कुछ घंटे बाद ही मरने के लिए छोड़ दिया था इस बच्चे को

स्कूल की छात्रा तमन्ना भाटिया...

 

रिलेटेड टॉपिक्स
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -