पेशावर अटैक : शोक में डुबा पाकिस्तान, 100 से अधिक संदिग्ध गिरफ्तार

Jan 22 2016 10:16 AM
पेशावर अटैक : शोक में डुबा पाकिस्तान, 100 से अधिक संदिग्ध गिरफ्तार

पेशावर : पाकिस्तान के बाचा खान यूनिवर्सिटी में हुए आतंकी हमले के बाच से पूरा पाकिस्तान शोक में डुबा हुआ है। पाकिस्तान में गुरुवार को एक दिन का राष्ट्रीय शोक रहा। कई जगहों पर पीड़ितों के लिए सामूहिक रुप से दुआएं मांगी गई। खैबर पख्तूनवा प्रांत में तीन दिन का शोक घोषित किया गया है। इसके अलावा देश भर में छापोमारी की जा रही है। विशेष दल ने खैबर पख्तूनवा से 17 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। कहा जा रहा है कि इनमें से 5 की इस हमले में भूमिका है। एक अन्य अभियान में पुलिस ने 100 से अधिक संदिग्धों को गिरफ्तार किया है।

बुधवार को आतंकियों ने हमला किया, जिसमें बाल-बाल बचे छात्रों ने बताया कि आतंकियों ने कई छात्रों के सिर के बीचो बीच गोली मारी। हमले के दौरान कॉलेज परिसर में अब्दुल गफ्फार खाँ की पुष्यतिथि पर समारोह चल रहा था। इस दौरान मुशायरे में शामिल होने के लिए करीब 3000 छात्र और 600 मेहमान मौजूद थे। हमले में 21 लोगों की मौत हुई जिनमें से ज्यादातर छात्र थे। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने 4 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया। आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान के उमर मंसूर ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

2014 में पेशावर के सैनिक स्कूलव में हुए आतंकी हमले का मास्टर माइंड भी वही था। अब तक मारे गए हमलावरों की शिनाख्त नही हुई है लेकिन कहा जा रहा है कि ये चारों अफगानी थे। हमलावरों के पास से दो मोबाइल फोन भी बरामद किए गए है। जिनमें अफगानिस्तान का सिम कार्ड लगा हुआ था। मारे जाने के बाद भी हमलावर के फोन पर अफगानिस्तान से फोन आया था। इसके अलावा मौके पर से 4 ग्रेनेड, 16 मैगजीन और 240 कारतूस भी बरामद किए गए। कैंटीन के मालिक ने बताया कि हमलावर छोटे कद के थे और उनकी हल्की दाढ़ी थी। उनकी उम्र छात्रों से भी कम थी।