मणिपुर: भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हुई, 55 अब भी लापता

इम्फाल: मणिपुर के नोनी जिले में एक रेलवे निर्माण स्थल पर हुए भूस्खलन की वजह से जान गंवाने वालों की तादाद शुक्रवार को बढ़कर 10 हो गई है। शुक्रवार तड़के मलबे से दो और शव बरामद कर लिए गए हैं। अधिकारियों ने इस संबंध में जानकारी दी है। भूस्खलन टुपुल यार्ड रेलवे निर्माण शिविर में बुधवार रात हुआ था। 

अधिकारियों ने जानकारी दी है कि सेना, असम राइफल्स, प्रादेशिक सेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) और राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) द्वारा खोज एवं बचाव अभियान चलाया जा रहा है। अब भी लगभग 55 लोग लापता बताए जा रहे हैं। घटनास्थल से गुरुवार तक प्रादेशिक सेना के 7 जवानों समेत कुल 8 शव बरामद किए गए थे। एक अधिकारी ने कहा है कि, 'सुबह खोज अभियान के दौरान प्रादेशिक सेना के 2 और जवानों के शव बरामद किए गए। NDRF, असम राइफल्स, जिला पुलिस, इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी, स्थानीय स्वयंसेवकों और अन्य के अतिरिक्त सहयोग से खराब मौसम के बीच भी बचाव अभियान जोर शोर से जारी है।' उन्होंने बताया कि अब तक प्रादेशिक सेना के 13 जवानों और पांच नागरिकों को रेस्क्यू कर लिया गया है। 

पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आर.पी. कलिता ने जख्मी प्रादेशिक सेना के जवानों से मुलाकात की, जिन्हें गुरुवार को लीमाकोंग सैन्य अस्पताल में एडमिट कराया गया था। हालांकि, अब उनका उपचार मंत्रिपुखरी में असम राइफल्स के अस्पताल में जारी है। सीएम एन बीरेन सिंह ने हादसे में जान गंवाने वालों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की मुआवजा राशि देने का ऐलान किया है। मणिपुर के राज्यपाल एल. गणेशन ने भी इस घटना पर दुख प्रकट किया है। 

जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर हादसा, 4 अमरनाथ यात्री घायल

पीएम मोदी ने उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू को जन्मदिन की बधाई दी

प्रधानमंत्री ने पुरी जगन्नाथ रथ यात्रा शुरू होने पर देशवासियों को दी बधाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -