निशक्तजनों के लिए फिल्म महोत्सव 1 दिसंबर से

नई दिल्ली : निशक्तजन के लिए पहले अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफपीडी) का आयोजन एक से तीन दिसंबर, 2015 तक दिल्ली में होगा। सामाजिक अधिकारिता एवं सशक्तीकरण मंत्रालय के निशक्तजन सशक्तीकरण विभाग के सचिव लव शर्मा ने सोमवार को इस आशय की घोषणा की और कहा कि इस महोत्सव का आयोजन निशक्तजन की भावनाओं को सम्मान देने और ऐसे सिनेमा को दिखाने के लिए किया गया है, जो उन्हें हमारी दुनिया से जोड़े और निशक्तता से जुड़े मसलों पर संवेदनशीलता कायम करें।

तीन दिवसीय महोत्सव के दौरान 40 फिल्में (10 फीचर फिल्म, 16 लघु फिल्म और 14 वृत्तचित्र) दिखाई जाएंगी। इन फिल्मों का चयन भारत और विदेशों की 541 फिल्मों में से किया गया है। फिल्म महोत्सव तीन दिसंबर को समाप्त होगा, जिसे विश्व भर में अंतरराष्ट्रीय निशक्तजन दिवस के तौर पर मनाया जाता है, लिहाजा इससे निशक्तजन के योगदान का भी सम्मान होगा। आईएफएफपीडी 2015 की सभी तीन श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक और सर्वश्रेष्ठ फिल्म को नकद पुरस्कार, ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जाएगा।

ये निम्नलिखित हैं-सर्वश्रेष्ठ फिल्म (फीचर)- (फिक्शन फीचर)- तीन लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र (वृत्तचित्र फीचर)- लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र। सर्वश्रेष्ठ फिल्म (वृत्तचित्र) 25 लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र। सर्वश्रेष्ठ फिल्म (लघु)- एक लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र। सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (फीचर) 25 लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र। सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (वृत्तचित्र)- 15 लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र। सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (लघु) एक लाख रुपये, ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -