चार्ल्सटन : भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने स्विट्जरलैंड की अपनी जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस के साथ फेमिली सर्किल कप खिताब जीत लिया। इसके साथ ही सानिया सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त महिला युगल खिलाड़ी हो गईं। सानिया यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी भी बन गईं। शीर्ष वरीयता प्राप्त सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने रविवार को हुए फाइनल मुकाबले में केसी डेलाक्वा और दारिजा जुराक की जोड़ी को एकतरफा मुकाबले में 6-0, 6-4 से हरा दिया।

सानिया युगल या एकल किसी भी वर्ग में सर्वोच्च विश्व वरीयता पाने वाली पहली भारतीय और चौथी एशियाई महिला खिलाड़ी बन गईं। सानिया से पहले जापान की आई सुगियामा, चीन की पेंग शुआई और चीनी ताइपे की हसीएह सू वेई ही विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने में सफल रही हैं। मैच के बाद ट्रॉफी लेते हुए सानिया ने कहा, "दुनिया में नंबर-1 बनना किसी भी बच्चे के लिए सपने के सच होने जैसा होता है।"

सानिया ने कहा, "यह उपलब्धि में हिंगिस से बेहतर किसी अन्य के साथ हासिल करने के बारे में सोच भी नहीं सकती थी। जब हम यहां आए थे तो हमारे दिमाग में एक ही बात थी, शीर्ष पर पहुंचना और हिंगिस ने वास्तव में इसमें मेरी बहुत मदद की। उन्होंने मुझे बीते कुछ कठिन सप्ताहों में काफी मदद की।" पूर्व सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त महिला एकल खिलाड़ी हिंगिस की सराहना करते हुए सानिया ने कहा, "मैं आपको बूढ़ी होने का अहसास नहीं कराना चाहती।    

मैं जब बच्ची थी तब से आपको खेलते हुए देख रही हूं। तब आप अधिकांश लड़कियों की आदर्श थीं। आपने यह कारनामा मात्र 15 वर्ष की आयु में कर दिया था।" गौरतलब है कि इस वर्ष लगातार तीसरा खिताब जीतने वाली सानिया-हिंगिस की जोड़ी को वर्ष के आखिरी टूर्नामेंट डब्ल्यूटीए फाइनल्स में पहले ही शीर्ष वरीयता दी जा चुकी है।

Popular Stories
?