ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर अफसर ऐश्वर्या प्रधान ने लिया शादी का फैसला

Sep 10 2018 08:57 AM

भुवनेश्वर: 6 सितम्बर 2018 गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट भारतीय दंड संहिता की धारा 377 की संवैधानिक वैधता पर फैसला सुनाया गया. अब सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 के अंतर्गत समलैंगिक संबंध बनाने की मंजूरी दे दी है. अब कोई भी समलैंगिक संबंध बना सकता है क्योंकि वह अपराध की श्रेणी से बाहर हो चुका है. इस फैसले से उन लोगों को बहुत फायदा मिला है जो काफी लम्बे समय से संबंध बना रहे हैं लेकिन शादी नहीं कर पा रहे. ऐसे कई लोग है जो लम्बे समय से अपराधी माने जा रहे हैं और अपराधी की तरह जीवन काट रहे हैं.

सुपरस्टार अक्षय कुमार, जन्मदिन पर जाने 'खिलाड़ी' की आने वाली फिल्मों के बारे में...

अब उन सभी को अपराधी शब्द से छुटकारा मिल चुका है और अब वह खुलकर एक-दूजे के साथ रह सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर सरकारी अफसर ऐश्वर्या रितुपर्णा प्रधान को भी बहुत ख़ुशी है. आपको बता दें कि वह काफी समय से अपने पार्टनर के साथ लिव-इन में रह रहीं हैं लेकिन अब वह अपने रिश्ते को एक नाम देने के लिए तैयार हैं. ऐश्वर्या उस समय काफी तेजी से सुर्ख़ियों में आईं थीं जब वह ओडिशा की पहली ट्रांसजेंडर अधिकारी बनी थीं.

भारत बनाम इंग्लैंड: भारतीय पारी 292 पर सिमटी, इंग्लैंड को 40 रन की बढ़त

ऐश्वर्या ने अब तक कभी भी अपने जीवन के बारे में कुछ भी नहीं छुपाया और उन्होंने बताया था कि वह करीब 2 साल से अपने पर्टनर के साथ लिव-इन में रह रहीं हैं और अब वह उससे शादी कर एक बच्चे को गोद भी ले लेंगी. गौरतलब हो कि ऐश्वर्या ने खुद को साल 2014 में थर्ड जेंडर के रूप में बताया था और उसके बाद ही उन्हें उस रूप में पहचान मिली और उनकी पहचान को मान्यता दी गई.

खबरें और भी

पेट्रोल-डीजल पर कांग्रेस का भारत बंद, कही टायर जलाए तो कही ट्रेने रोकी

पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

नए भ्रष्टाचार रोधी कानून में इन्हे भी माना जाएगा रिश्वत, होगी 7 साल की जेल

Related News