NRC में किसी भारतीय का नाम नहीं छूटेगा : राजनाथ सिंह

Sep 09 2018 12:25 PM

नई दिल्ली। असम में एनआरसी (नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स) की नयी सुची में चालीस लाख लोगों का नाम शामिल न होने के बाद से इस मुद्दे पर लगातार  राजनीती गर्माती ही जा रही है। इस मामले में कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को घेरने की कोशिश कर चुकी है। अब इस मामले में मामले में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी पार्टी की तरफ से सफाई दी है।

रोहिंग्‍या यहां बस गए तो दस कश्‍मीर और तैयार हो जाएंगे : स्‍वामी रामदेव 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में दिए एक बयान में एनआरसी मामले में जनता को आश्वासन देते हुए कहा है कि एनआरसी की अगली सूचि में किसी भी भारतीय का नाम नहीं छूटेगा। उन्होंने कहा है कि इस सूचि से केवल उन लोगों को बाहर रखा जाएगा जो दूसरे देशो से अवैध रूप से भारत में आकर रह रहे है।  राजनाथ सिंह ने यह बाते  पूर्वोत्तर राज्यों से दिल्ली आये छात्रों के स्वागत में आयोजित एक महोत्सव में जनता को संबोधित करते हुए कही है। 

कांग्रेस के नेता तरुण गोगोई का दावा, हमारा था NRC प्रोजेक्‍ट

आपको बता दे कि नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स एक ऐसी संस्था है जिसे यह पता लगाने के लिए स्थापित किया गया था कि भारत के विभिन्न राज्यों में कितने लोग अवैध तरीको से रह रहे है। एनआरसी को आमतौर पर उन्ही राज्यों में लागु किया जाता है जो अंतरास्ट्रीय सीमा से लगे होते है और जिनमे विदेशियों के अवैध तरीके से घुसने की गुंजाईश होती है। इस मामले में हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया है कि वो एनआरसी से बाहर रखे गए 10 प्रतिशत लोगों का जल्द से जल्द रीवेरिफिकेशन कराये। 

ख़बरें और भी 

एनआरसी से बाहर रखे गए लोगों का शीघ्र करें रीवेरिफिकेशन : सुप्रीम कोर्ट

असम में घुसपैठियों के नाम पर हौव्वा खड़ा कर रही है भाजपा : हरीश रावत

2019 में देश के सभी राज्यों में लागू किया जाएगा NRC - ओपी माथुर

Related News