राशिफल

कन्या (Virgo) राशि के बारे में

- 30 Apr 2017, Sunday

व्यापार में मंदी का एहसास होगा, वाहन सुख तो मिलेगा लेकिन दुर्घटना की संभावना होने से वाहन सावधानी से चलाने की सलाह इस राशि के जातकों को दी जा रही है। परिवार में किसी बात को लेकर विवाद की भी स्थिति उत्पन्न हो सकती है, लेकिन समझदारी से काम लिया जाना चाहिये।

साप्ताहिक राशिफल कन्या (Virgo)

- 30 Apr 2017, Sunday

व्यापार में मंदी का एहसास होगा, वाहन सुख तो मिलेगा लेकिन दुर्घटना की संभावना होने से वाहन सावधानी से चलाने की सलाह इस राशि के जातकों को दी जा रही है। परिवार में किसी बात को लेकर विवाद की भी स्थिति उत्पन्न हो सकती है, लेकिन समझदारी से काम लिया जाना चाहिये।

मिश्रित फल प्राप्त होगा, आर्थिक स्थिति सामान्य बनी रहेगी, कार्य में मन लगेगा और नौकरी में भी आंशिक सफलता प्राप्त हो सकती है। परिवार में भी शांति बनी रहेगी। विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी, व्यापारी वर्ग को थोड़ी मेहनत करने की जरूरत रहेगी जबकि किसानों को भी सफलता मिलने के पूरे संयोग सामने आ रहे है।

संतान की तरफ से परेशानी सामने आएगी, तनाव अशांति बनी रहेगी, परिवार में किसी न किसी बात को लेकर असंतोष भी उपजेगा, लेकिन मान सम्मान में भी बढ़ोतरी होने के संकेत प्राप्त हो रहे है। सर्विसपेशा लोगों को सफलता मिलेगी, किसानों को भी राहत प्राप्त होगी, विद्यार्थियों को मेहनत करना होगी। विद्यार्थियों को माता सरस्वती की आराधना करने से सफलता मिलेगी वहीं अन्य जातकों को भगवान गणेश और शिव की आराधना करने की सलाह दी जाती है।

कन्या राशिफल 2015 के अनुसार इस साल शनि आपके तीसरे भाव में है, वहीं राहु आपकी राशि यानी कि पहले भाव में है जबकि केतु आपके सप्तम भाव में स्थित रहेगा। अगर बात की जाए देवगुरु बृहस्पति की तो वह साल के पहले भाग में आपके लाभ भाव में रहेंगे वहीं साल के दूसरे भाग में गुरु आपके द्वादश भाव में रहेंगे। इन ग्रहों का आप पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है, आइए जानते हैं। यदि घर परिवार की बात की जाए तो कन्या 2015 राशिफल के अनुसार, साल के पहले भाव में स्थिति बेहतर रहने की उम्मीद है। यदि आप भाई बन्धुओं से अच्छे संबंध कायम रखने में कामयाब रहे तो उनकी मदद से विषमताएं बहुत हद तक नियंत्रित रहेंगी। साल के पहले भाग में घर में कुछ मांगलिक कार्यों के होने की भी सम्भावनाएं है। ध्यान रहे कि पिता या पिता तुल्य व्यक्ति से मतभेद होने के योग बन रहे हैं, जहां तक सम्भव हो इससे बचें। कुछ अन्य पारिवारिक सदस्यों के बीच भी मतभेद हो सकता है या संतान को लेकर कुछ चिंताए रह सकती हैं। वर्ष 2015 में राहु की प्रथम भाव में उपस्थिति को देखते हुए आपको अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी सचेत रहना होगा। नियमित रूप से चिकित्सक के सम्पर्क में रहना होगा। कई बार तो बीमारी न होने के बावजूद भी बीमारी होने का भ्रम भी हो सकता है। ऐसे में दवा के साथ-साथ दुआ लेना बिल्कुल न भूलें। 2015 कन्या राशिफल कहता है कि जो लोग पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त नहीं है उन्हें साल के पहले भाग में कोई परेशानी नहीं होगी लेकिन राहु केतु के साथ-साथ बृहस्पति के गोचर के प्रतिकूल होने के कारण साल के दूसरे भाग में कुछ कष्ट सम्भव है। हालांकि संयमित दिनचर्या अपना कर स्वस्थ रहा जा सकता है। सामान्य तौर पर प्रेम प्रसंगों के लिए यह वर्ष अनुकूलता लिए रहेगा। पंचमेश शनि पंचम भाव को देखेगा अत: कोई विशेष नकारात्मक फल नहीं मिलेगा लेकिन प्रेम सम्बंधों में अनावश्यक जिद या ईगो के चक्कर में सम्बंधों को बिगड़ने से बचाना होगा। यदि आप विवाह योग्य हैं तो कन्या 2015 राशिफल के अनुसार, सगाई के भी योग निर्मित हो रहे हैं। और यदि आप शादीशुदा हैं तो जीवन साथी के साथ भ्रमण का अवसर मिलेगा। लेकिन केतु की सप्तम में उपस्थिति को देखते हुए जीवन साथी के स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहना होगा और किसी भी प्रकार के विवाद से बचना होना। साल के दूसरे भाग में तो अधिक संयम की आवश्यकता रहेगी। कन्या राशिफल 2015 कहता है कि साल के पहले भाग में आप नौकरी या धन्धे में कुछ अच्छा करने के प्रयास में रहेंगे। नए उद्यमों या व्यवसायों से जुड़ने का मौका मिलेगा। नौकरी की स्थिति बेहतर होगी। नए परिवर्तन अथवा नए काम की शुरुआत होगी। यदि आप नौकरी में परिवर्तन करना चाह रहे हैं तो यह साल इस काम में आपके लिए अच्छा मददगार होगा। साल के दूसरे भाग में विदेशियों या सुदूर स्थलों पर रहने वाले लोगों से आपके व्यवसायिक संबंध मजबूत होंगे। आप किसी नए काम की शुरुआत भी कर सकते हैं। हालांकि साल के दूसरे भाग में समझदारी से काम निकालने की आवश्यकता रहेगी। कन्या भविष्यफल 2015 आपको सचेत करता है कि इस समय जल्दबाजी से काम बिल्कुल न लें। किसी भी बहस में न उलझें। कोशिश करें कि अपना काम सलीके से करें। वर्ष का प्रथम भाग 2015 कन्या राशिफल के दृष्टिकोण से आय के लिए अनुकूल है। यानी कि इस समय आपकी आमदनी में इजाफा हो सकता है। निरंतर हो रही आमदनी के कारण आप बचत करने में भी सफल रहेंगे। यदि आपके पास कोई पुराना कर्ज है तो साल के पहले भाग में उसे चुकाने की कोशिश करें क्योंकि साल के दूसरे भाग में कुछ नए कामों की शुरुआत करने के कारण आपको अपने संचय किए हुए धन को खर्च करना पड़ सकता है। कन्या राशिफल 2015 के अनुसार, यदि आपका या आपके काम का कोई संबंध विदेश से है तो साल के दूसरे भाग में वहां से कमाई हो सकती है। कन्या भविष्यफल 2015 बताता है कि अध्ययन के लिए साल का पहला भाग अनुकूल है। अत: सीखने सिखाने के लिए साल का पहला भाग अपेक्षाकृत बेहतर रहने वाला है। क्योंकि साल के दूसरे भाग में बृहस्पति आपके बारहवें भाव में रहेगा और पंचम दृष्टि से चतुर्थ भाव को देखेगा फलस्वरूप उच्चा शिक्षा व विदेश में शिक्षा लेने के लिए तो यह अनुकूल रहेगा लेकिन प्रारम्भिक शिक्षा ले रहे विद्यार्थियों के लिए मेहनत थोड़ी अधिक पड़ सकती है। अत: साल के पहले भाग से ही शिक्षा का स्तर इतना बेहतर कर लें कि दूसरे भाग में अधिक परेशानी न हो। उपाय माथे पर केसर का तिलक लगाएं। बहते पानी में हर चौथे महीने चार नारियल बहाएं। आशा है कि आप अपने आने वाले वर्ष को अपनी आर्थिक, पारिवारिक, कार्यक्षेत्र आदि के भविष्यफल के अनुसार नियोजित करेंगे और यहाँ दिए उपाय आपकी इस वर्ष सहायता करेंगे।

Popular Stories