बेरोजगारी भत्ता : वितरण से ज्यादा आयोजन पर खर्च

May 19 2017 05:53 PM
बेरोजगारी भत्ता : वितरण से ज्यादा आयोजन पर खर्च

एक अख़बार में छपी रिपोर्ट अगर सही है तो यह खबर निश्चित ही चिंताजनक है कि उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव के शासनकाल में के श्रम विभाग ने 2012-13 में बेरोजगारी भत्ते में जहाँ 20.58 करोड़ रुपए की राशि बांटी, वहीं जो कार्यक्रम आयोजित किया उसमें कुल 15.06 करोड़ रुपये खर्च कर दिए.

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को उत्तर प्रदेश के सदन में कैग की रिपोर्ट रखी गई. रिपोर्ट के अनुसार ऐसा तब हुआ जब बेरोजगारी भत्ता बांटने का तरीका यह था कि धन को सीधे उस व्यक्ति के बैंक खाते में जमा कराया जाए. अब इसे व्यवस्था की विडंबना कहें या नेताओं का पार्टी प्रचार कि कार्यक्रमों में लोगों को सभास्थल तक लाने ले जाने के लिए 15 करोड़ रुपए खर्च कर दिए.

बता दें कि कैग की रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि कार्यक्रमों में लोगों को सभास्थल तक लाने ले जाने के लिए 6.99 करोड़ और कार्यक्रम में बैठने और खाने पीने का इंतज़ाम करने के लिए 8.07 करोड़ रुपए खर्च किए. यानी बेरोजगारी भत्ते की कुल राशि 20.58 करोड़ रुपए थी. लेकिन उसके लिए 15 करोड़ रुपए व्यवस्था और खान -पान में खर्च कर दिए.यानी आमदनी अठन्नी. खर्चा रुपैया वाली कहावत यहां चरितार्थ हो गई.

यह भी देखें

अखिलेश ने शहीदों की शहादत पर सवाल खड़ा किया

मुलायम सिंह यादव ने कहा, नई पार्टी को लेकर शिवपाल से नहीं हुई कोई बात

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App