News Trending

नई दिल्ली. नोट बैन और कालेधन को उजागर वाले मामले में कई समस्याए आई, और बहुत परेशानी आम जनता को झेलना पड़ी. बता दे की ऐसे ही एक मामले में दिल्ली में लॉ फर्म के मालिक रोहित टंडन और कारोबारी पारसमल लोढ़ा की मुश्किलें बढ़ गई है. ईडी ने दोनों के 6.84 करोड़ की संपत्ति को सीज करने का हुक्म जारी किया है. रोहित टंडन के कार्यालय और घर पर छापामारी से 13.56 करोड़ रूपए कैश जब्त हुए है, यही नहीं बल्कि नोट गिनने की मशीने भी प्राप्त हुई. जिनकी संख्या 2 थी.

इनकम टैक्स की रेड के बाद आईडीएस के अंतर्गत 125 करोड़ रूपए का कालाधन उजागर हुआ था. नोट बैन के बाद टंडन पर रेड की कार्यवाही के बाद करोड़ो के नोट बरामद हुए. टंडन से जाँच में पूछताछ के दौरान उन्होंने उस व्यक्ति का नाम बताने से इंकार कर दिया और साथ ही यह भी कहा की यह पैसे उसी के है किन्तु उसका नाम नहीं बता सकते.

यद्यपि जांच एजेंसी को संदेह है कि कोलकाता के उद्योगपति पारसमल लोढ़ा के साथ मिलकर रोहित टंडन ने हाई प्रोफाईल लोगों के कालेधन को सफेद कर दिया था.बता दे की नोट बैन के बाद कई अफसर के पास से अघोषित संपत्ति का मामला उजागर हुआ है. सरकार आगे कार्यवाही कर रही है. 

ये भी पढ़े 

9 सरकारी अफसरों के ठिकाने पर रेड

28 फरवरी तक अपना पैन कार्ड अपडेट कराएं वर्ना खाता हो सकता है फ्रिज

नोट बेन के बाद नकली नोट की समस्या ख़त्म - वित्त मंत्रालय