यहाँ पर इस त्योहार को हिंदू मुस्लिम और सिख एक साथ मिलकर मनाते हैं

Aug 31 2016 03:26 AM
यहाँ पर इस त्योहार को हिंदू मुस्लिम और सिख एक साथ मिलकर मनाते हैं

देश में आज भी कई ऐसी जगह हैं जहां कुछ लोग धर्म व कट्टरवाद से ऊंचा उठकर आपसी खुशी को अहमियत देते हैं हुए हिंदू-मुस्लिम की एकता की मिसाल बने हुए हैं। ऐसी ही मिसाल राजधानी जयपुर से 200 किलोमीटर दूर झुंझुनू जिले के चिड़ावा स्थित नरहड़ दरगाह, शरीफ हजरत हाजिब शकरबार दरगाह पर देखा जा सकता है। यहां मुस्लिम समुदाय के लोग दरगाह में जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाते हैं।

भगवान कृष्ण के जन्मदिन यानी जन्माष्टमी के मौके पर तीन दिनों का उत्सव आयोजित किया जाता है। इस दौरान यहां कव्वाली, नृत्य और नाटकों का आयोजन किया जाता है। स्थानीय लोग बताते हैं कि यहां इस त्योहार को हिंदू, मुस्लिम और सिख एक साथ मिलकर मनाते हैं। गांव के एक बुजुर्ग ने बताया कि यह त्योहार हाल फिलहाल नहीं बल्कि पिछले कई वर्षों से मनाया जा रहा है। इस त्योहार के पीछे मुख्य उद्देश्य हिंदु-मुस्लिम में भाईचारे को कायम रखना है। 

यहां आयोजित मेले में दूरदराज से लोग पहुंचते हैं और मेले का लुत्फ उठाते हैं। इस दौरान यहां पहुंचने वाले हिंदू श्रद्धालु मंदिर में पूजा करने के साथ-साथ दरगाह में फूल, चादर, मिठाई आदि चढ़ाकर अपनी-अपनी मुरादें मांगते हैं।

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App